धन्य हैं वे लोग जो धर्म एवं न्याय के खातिर आवाज बुलंद करते हैं


धन्य हैं वे लोग जो धर्म एवं न्याय के खातिर आवाज बुलंद करते हैं

धन्य हैं वे लोग,
जो धर्म (कर्तव्य) एवं न्याय के खातिर आवाज बुलंद करते हैं, विषम परिस्थितियों में भी सत्य के साथ हो लेते है..भरी अदालत में खड़े होकर दिशा रवि का यह कहना कि,
“यदि किसानों के पक्ष में आवाज उठाना, किसानों की बात करना अपराध है तो वह जेल में रहना पसंद करेगी”

…हाँ, यही है हमारी पीढ़ी, यही है भारतीय मूल्यों को संजोना, यही है भारत की अप्रतिम विरासत.

“किसी लोकतांत्रिक देश में नागरिक सरकार को राह दिखाने वाले होते हैं. वो सिर्फ इसलिए जेलों में नहीं भेजे जा सकते, क्योंकि वो सरकार की नीतियों से असहमत हैं. देशद्रोह का मामला सिर्फ सरकार के टूटे गुरूर पर मरहम लगाने के लिए नहीं थोपा जा सकता है. विचारों में मतभेद, असहमति, यहां तक कि नापसंद करना भी सरकार की नीतियों में निष्पक्षता लाने के लिए मान्य तरीके हैं. एक उदासीन और हां में हां मिलाने वाले नागरिक के मुकाबले जागरूक और स्वयं के विचारों के प्रति सजग नागरिक एक स्वस्थ और समृद्ध लोकतंत्र की पहचान है.”

..दिशा रवि की जमानत याचिका मंजूर करते हुए माननीय जज धमेंद्र राणा द्वारा कही गई बातें अनेकों-अनेक जागरूक नागरिकों के लिए वैचारिक अनुनाद है क्योंकि वे वर्षों से यही महसूस करते आए हैं लेकिन वे लोग जो नशे में हैं, वे लोग जो सोची-समझी साजिश के तहत बुने गये छद्म-जाल, जिसमें लोकतंत्र की हर कसौटी भारत के विश्व-गुरु होने के मार्ग में बाधा मानी जाती है, से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं साथ ही वह मीडिया, जो समझता है कि भारत पुनर्निर्माण के रास्ते पर चल पड़ा है तो सरकार की आलोचना भारत के पुनर्निर्माण में बाधा है इसलिए सरकार की चरण-वंदना ही सर्वोपरि है.. इन सब के लिए ये बातें नई ना होते हुए भी भी नई हैं क्योंकि माननीय जज ने लोकतंत्र की कसौटी वर्णित की है जो गैर-लोकतांत्रिक शक्तियों पर प्रहार है.

If you have any query related to the article then please comment and share you valuable feedback.

you can also read :- क्या भारतीय लोकतंत्र में संवाद हाशिए पर जा रहा है? धर्म एवं न्याय धर्म एवं न्याय

image by :- foxexclusive

1 thought on “धन्य हैं वे लोग जो धर्म एवं न्याय के खातिर आवाज बुलंद करते हैं”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *